Samajik anusandhan evam sankhiyiki (Social research and statistics) (सामाजिक अनुसंधान एवं सांख्यिकी)

By: Tripathi, Satyendra
Contributor(s): Shrivastav, Anil Kumar [Co-author]
Material type: TextTextPublisher: Jaipur Rawat Publications 2017Description: xv, 309 p.: ill. Includes bibliographical referencesISBN: 9788131608340Subject(s): Social sciences - Research | Social sciences - Statistical methods | Scientific perspectiveDDC classification: H 300.72 Summary: सामाजिक विज्ञान मनुष्यता के संरक्षण और मानवीय मूल्यों के विकास एवं प्रगति का मूलाधार है। ज्ञान के शेष अनुशासन एकपक्षीय होते हैं, चाहे वे कितना भी महत्वपूर्ण हो और अपरिहार्य ही क्यों न हो। समाजिक घटनाओं के अध्ययन की अपनी वैज्ञानिक दृष्टि एवं पद्धतियां होती हैं, जिनके माध्यम से हम अनुभावात्मक परिपेक्ष्य प्रस्तुत करते हैं। यह पुस्तक सामाजिक विज्ञानों की घटनाओं के अध्ययनों की प्रविधियों एवं पद्धतियों का विवेचन है। इसमें ‘सामाजिक अनुसंधान’ के समस्त पहलुओं को सरल परन्तु उच्चस्तरीय रूप में समझाने का प्रयास किया गया है। • सांख्यिकी तत्वों को सरलतम विधियों से प्रस्तुत करते हुए इसकी विस्तृत विवेचना की गई है। • विभिन्न विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रमों को ध्यान में रखते हुए पुस्तक की विषय-सामग्री को प्रमाणित एवं वैज्ञानिक स्तर पर लाने का प्रयास किया गया है। • संकलित विषय सामग्री की आलोचनात्मक व्याख्या सरलता एवं सहजता के आधर पर की गई है। • अंग्रेजी के प्रचलित परिभाषित शब्दों का सरलतम हिन्दी में अनुवाद एवं प्रयोग करते हुए इसके विद्यार्थियों के लिए अधिकाधिक उपयोगी बनाने का प्रयास किया गया है। https://www.rawatbooks.com/research-methods/Samajik-anusandhan-avam-sankhiyki-hardback
List(s) this item appears in: Books Display - Hindi Fortnight 2021 (पुस्तक प्रदर्शनी - हिंदी पखवाड़ा २०२१)
Tags from this library: No tags from this library for this title. Log in to add tags.
    Average rating: 0.0 (0 votes)
Item type Current location Item location Collection Call number Status Date due Barcode
Hindi Books Vikram Sarabhai Library
Hindi
Slot 2535 (3 Floor, East Wing) Non-fiction H 300.72 T7S2 (Browse shelf) Available 203640

Table of content

1 सामाजिक विज्ञान एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण
2 अनुसंधान की पद्धतिशास्त्रीय प्रवृत्तियां
3 अवधारणा, तथ्य और सिद्धांत
4 ऐतिहासिक पद्धति
5 सांख्यिकीय पद्धति
6 प्रयोगात्मक पद्धति
7 सामाजिक अनुसंधान की प्रकृति एवं क्षेत्र
8 सामाजिक सर्वेक्षण
9 उपकल्पना
10 शोध प्रारूप
11 निदर्शन प्रणाली
12 वैयक्तिक अध्ययन
13 अवलोकन
14 साक्षात्कार
15 प्रश्नावली
16 अनुसूची
17 अन्तर्वस्तु विश्लेषण
18 समाजमिति
19 प्रक्षेपण प्रविधियां
20 अनुमापन
21 अन्तरानुशासनीय अभिगम
22 समंकों (आंकड़ों) का संग्रहण
23 समंकों का वर्गीकरण तथा सारिणीकरण
24 चित्रों द्वारा समंकों का प्रदर्शन
25 सांख्यिकी की प्रकृति एवं क्षेत्र
26 सांख्यिकीय माध्य
27 सहसंबंध
28 प्रमाप विचलन
29 काई-वर्ग परीक्षण

सामाजिक विज्ञान मनुष्यता के संरक्षण और मानवीय मूल्यों के विकास एवं प्रगति का मूलाधार है। ज्ञान के शेष अनुशासन एकपक्षीय होते हैं, चाहे वे कितना भी महत्वपूर्ण हो और अपरिहार्य ही क्यों न हो। समाजिक घटनाओं के अध्ययन की अपनी वैज्ञानिक दृष्टि एवं पद्धतियां होती हैं, जिनके माध्यम से हम अनुभावात्मक परिपेक्ष्य प्रस्तुत करते हैं। यह पुस्तक सामाजिक विज्ञानों की घटनाओं के अध्ययनों की प्रविधियों एवं पद्धतियों का विवेचन है।
इसमें ‘सामाजिक अनुसंधान’ के समस्त पहलुओं को सरल परन्तु उच्चस्तरीय रूप में समझाने का प्रयास किया गया है।
• सांख्यिकी तत्वों को सरलतम विधियों से प्रस्तुत करते हुए इसकी विस्तृत विवेचना की गई है।
• विभिन्न विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रमों को ध्यान में रखते हुए पुस्तक की विषय-सामग्री को प्रमाणित एवं वैज्ञानिक स्तर पर लाने का प्रयास किया गया है।
• संकलित विषय सामग्री की आलोचनात्मक व्याख्या सरलता एवं सहजता के आधर पर की गई है।
• अंग्रेजी के प्रचलित परिभाषित शब्दों का सरलतम हिन्दी में अनुवाद एवं प्रयोग करते हुए इसके विद्यार्थियों के लिए अधिकाधिक उपयोगी बनाने का प्रयास किया गया है।

https://www.rawatbooks.com/research-methods/Samajik-anusandhan-avam-sankhiyki-hardback

There are no comments for this item.

to post a comment.

Powered by Koha